माँ की चुदाई की कहानी

18638

मैं उत्तर प्रदेश के एक छोटे से कस्बे का रहने वाला हूँ मेरे घर में मेरी माँ और मैं ही रहता हूँ मेरे पिताजी आज से 10 साल पहले घर छोड़कर कहीं चले गए थे वो भी मेरी माँ कि वजह से.. मेरी माँ का नाम उमा है वह 37 साल की है माँ की चुदाई, और वह लंबी और सेक्सी औरत है, जब मेरी माँ किसी काम से घर से बाहर जाती है तो मेरे कस्बे के सभी लोग मेरी माँ को ही घूरते रहते है, मेरी माँ की गांड और बब्स बहुत ही कातिलाना थे जब वो चलती थी तो उनकी गांड और बब्स ऊपर नीचे होते रहते थे, जिसे देखकर हमारे यहाँ के सभी जवान और बूढ़े सभी के हाथ अपने-अपने लौड़ों पर चले जाते थे और वह मेरी माँ को देखकर आहें भरते थे मेरी माँ अक्सर साड़ी पहनती थी

तो दोस्तों अब मैं अपनी आज की चुदाई की कहानी की ओर आता हूँ, मेरा एक दोस्त है जिसका नाम दिनेश है, जो मेरा बहुत ही करीबी दोस्त है, हम दोनों साथ में पोर्न फ़िल्में देखते हैं और मूठ भी मारते हैं, एक बार मैं और वह रात में छत पर सोए हुए थे रात के 11 बज रहे थे तो हम एक दूसरे का लंड पकड़ कर मूठ मार रहे थे तभी दिनेश मुझसे बोलता है कि यार मैनें आज एक औरत को नंगा नहाते हुए देखा है तो मैनें उससे पूछा कि वह कौन थी कैसी थी और तुमने उसे कहाँ देखा था? तो उसने मुझे बताया कि…..

दिनेश:- मैनें तेरे बाथरूम के दरवाजे में जो छेद है उससे ही उसे देखा था जब तेरी माँ नहा रही थी, मैं तो उसे देखकर पागल ही हो गया, उसकी चूचियां और गांड बहुत ही मस्त है

मैं:- उसके मुहँ से अपनी माँ के बारे में सुन कर मुझे बहुत गुस्सा आया

दिनेश:- देख तेरी माँ एक औरत है और मैं एक मर्द हूँ तो इसमें कोई बुराई नहीं है और वह मुझे बहुत समझाता है और मैं उसे कहता हूँ कि ठीक है जो तुझे करना है तू कर
तब वो मुझे बोलता है तेरी माँ एक रंडी है वो बहुत लोगों से चुद चुकी है उसको मैं भी जरूर चोदूंगा

फिर वह मुझे बताता है कि अपने कस्बे के गार्डन में एक दिन दोपहर को तेरी माँ यहीं के ही एक आदमी से चुद रही थी वह आदमी कोई और नहीं हमारा ही पड़ोसी था तब वो मुझसे बोलता है कि उसे मेरी माँ को कैसे चोदना है

उसके प्लान के अनुसार एक सप्ताह के बाद वह मेरी माँ को हमारी छत पर ही चोदेगा गर्मी के दिन थे मैं मेरी माँ और पड़ोस के कुछ लोग अपनी-अपनी छतों पर सो रहे थे, मेरा दोस्त भी मेरे साथ आ कर हमारी ही छत पर सो गया था, मैं अपनी माँ के बगल में ही सोता था मेरा दोस्त उस रात को मेरी जगह आ कर सो गया और उसने अपनी अंडरवीयर नीचे कर दी और फिर वह धीरे से अपने हाथ को मेरी माँ के बब्स के ऊपर ले जाकर रख देता है माँ की तरफ़ से कोई हरकत ना होती देखकर वह अपने हाथ से अब माँ के बब्स को दबाने लग गया था फिर भी माँ की तरफ़ से कोई हलचल ना देख कर उसने माँ का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया, और यह देखकर मैं एकदम हैरान हो गया कि माँ अपना हाथ उसके लंड से नहीं हटा रही थी,

View more Sexy Bhabhi in bra & panty

Indian marathi house wife bra removing photo
Salwar kameez girl xxx sex images
Maharashtra house wife removing bra sexy photo
भाभी की नंगी फोटो
Indian big wife nude petticoat photo
तब उसकी हिम्मत और बढ़ जाती है और वह माँ के ब्लाउज के हुक खोलने लगता है, और माँ के बब्स को दबाने लग जाता है और अब माँ भी जाग चुकी थी लेकिन उसने अपनी आँखे बंद कर रखी थी और माँ उसके लंड को दबा रही थी और आगे-पीछे करने लग गई थी, और माँ दिनेश के कान में धीरी से बोलती है कि चलो नीचे कमरे में चलते हैं यहाँ हमको कोई देख लेगा, और दोनों कमरे में चले जाते है माँ और दिनेश कमरे में जाकर दरवाज़ा बन्द कर लेते है, दिनेश चुपके से थोड़ी सी खिड़की खोल देता है जिससे मैं अंदर देखता हूँ कि माँ ने जल्दी-जल्दी अपनी साड़ी उतार दी है और वह केवल पेटीकोट और ब्रा में ही थी
माँ:- मुझे पता है दिनेश तू मुझे रोज नहाते हुए देखता है

दिनेश:- उमा मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और तुझे बहुत दीनों से चोदना चाहता हूँ

माँ:- आज जब तूने छत पर अपने लंड पर मेरा हाथ रखा तभी से मैं तेरी हो गई हूँ तेरा लंड बहुत बड़ा है रे, आज से मैं तेरी गुलाम हो गयी हूँ

दिनेश:- माँ के होंठ पर अपने होंठ रख देता है और किस करने लगता है और अपने हाथों से माँ के बब्स को जोर-जोर से दबा रहा था, वह माँ को 15 मिनट तक किस करता हुआ वह माँ की ब्रा को खोल देता है और माँ के बब्स को चूसने लगता है

माँ:- आज आ आ आ चूस मेरे राजा आ बहुत अच्छा चूस्ता है रे तू तो चूस और ज़ोर से चूस

दिनेश:- उमा तेरे बब्स तो बहुत बड़े है रे सच में तू बहुत रसीली है कुछ समय बब्स चूसने के बाद माँ को नीचे बैठा कर अपना लंड माँ के मुहँ में डाल देता है
माँ उसे लोलिपोप की तरह चुस रही थी

दिनेश:- साली उमा रंडी तू तो सच में बहुत बड़ी रंडी है रे तू बहुत मस्त तरीके से लंड को चुसती है, आह निकलने वाला है कहाँ छोड़ू माँ कहती है कि मेरे मुहँ में ही डाल दो मेरे राजा और फिर दिनेश झड़ जाता है और बिस्तर पर बैठ जाता है और माँ उसे किस करने लगती है

माँ की चुदाई की कहानी

दिनेश:- उमा रंडी आज तक तू कितनो से चुद चुकी है

माँ:- आज तू 12 वां आदमी है जो मुझे चोद रहा है आज से पहले मैं तेरे पापा तेरे चाचा से और बहुत लोगों से चुद चुकी हूँ मेरे चोदू राजा कुछ देर बाद दिनेश का लंड फिर से खड़ा हो जाता है और वह माँ की चूत को चूसता है और जब तक माँ झड नहीं गई तब तक चूसता रहा फिर अपने लंड को माँ की चूत पर सेट करके एक धक्का मारता है और पूरा का पूरा लंड माँ की चूत में पेल देता है और ऊपर-नीचे होने लगता है

माँ:– आ आह ममेरे राजा और ज़ोर से अहह आह उहह उहह मज़ा आ गया

इन सब आवाजों से पूरा कमरा गूँज उठा था 20 मिनट तक की चुदाई के बाद दिनेश माँ की चूत में ही झड जाता है और माँ तो 3 बार झड चुकी थी और दोनों एक दूसरे के ऊपर ही लेट जाते है और बात करने लगते है

दिनेश:- उमा मेरी जान तू बहुत रसीली है, तुझे तो पूरा गाँव चोदना चाहता है

माँ:– लेकिन मेरे राजा आज से मैं केवल तुझ से ही चुदवाऊंगी

कुछ देर के बाद दिनेश का लंड फिर खड़ा हो जाता है और वो माँ की गांड को सहलाने लगता है और माँ समझ जाती है कि यह क्या चाहता है माँ डोगी स्टाइल में आ जाती है और उनकी कामलीला फिर शुरू हो जाती है इस बार 40 मिनट का दौर चलता है
तो दोस्तों कैसे लगी आप को मेरी माँ की चुदाई कि कहानी अगली स्टोरी में आपको बताऊंगा कि मैनें भी अपनी सेक्सी माँ को कैसे पेला और कैसे उसकी गांड कि चुदाई करी…..